बाबुल छुट चला तेरा अंगना | Baabul chhut chala tera angana

तर्ज:

बाबुल छुट चला तेरा अंगना-2
लेके चली तन सजा सजाया, छोड़ चली मन अपना
बाबुल छुट चला तेरा अंगना-२

– 1 –

हाथ हुए क्यों पीले मेरे, हो गई मै तो पराई,
शहनाई की गूंज में खो गई, बाबुल तेरी दुहाई,
मन भी मेरा जब-जब धड़के जब-जब खनके कंगना
बाबुल छुट चला तेरा अंगना-२

– 2 –

इस अंगना में भैया के संग बचपन मेरा खेला
आज खड़ा है उस अंगना में भैय्या मेंरा अकेला
जागती आंखे देख रही हैं, मेरे सुख का सपना
बाबुल छुट चला तेरा अंगना-2

इस पेज को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *