मैं तो भूल चली बाबुल का देश | Mai to bhool chali baabul ka desh

तर्ज:

मैं तो भूल चली बाबुल का देश, पिया का घर प्यारा लगे
हो, कोई मैके को भेजो संदेश, जाके मैके को दे दो संदेश
पिया का घर प्यारा लगे, हो मैं तो …

– 1 –

ननदी मैं देखी है बहना की सूरत, सासुजी मेरी है ममता की मूरत
हो ऽ पिता जैसा ससुरजी का वेश, पिया का घर प्यारा लगे
मैं तो भूल …

– 2 –

चंदा भी प्यारा है, सूरज भी प्यारा, पर सबसे प्यारा है सजना हमारा
हो ऽ नही कोई जिया को क्लेश, पिया का घर प्यारा लगे
मैं तो भूल …

– 3 –

बैठे रहे सैंया नैनों के जोड़े इस पल अकेला रो मुझको ना छोड़े
हो ऽ आंखे समझे पिया का संदेश, पिया का घर प्यारा लगे
मैं तो भूल …

इस पेज को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *