Archives

देखे म्हारा देवर जेठ | Dekhe mhara devar jeth

ओढूं म्हारी बनडी रे ब्याह जानेती देखे निखरता जी
देखे म्हारा देवर जेठ राजींद देखे मुलकताजी
बांगां में बजा जंगी ढोल सेरिया में बाजे शहनाई जी
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

अरज मेरी सुनो भैया | Araj meri suno bhaiya

अरज मेरी सुनो भैया समय पर भात ले आना

ससुरजी को सूट ले आना सास की साड़ी ले आना
अगर इतना न होभैया तो खाली हाथ आजा ना
अरज मेरी सुनो भैया समय पर भात ले आना
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

मायरा री रीत निभाती पड़सी | Maayra ri reet nibhati parsi

बहन कहे वीरा झेलो रे बत्तीसी
भाणजा रा ब्यारा ऊपर आणो पड़सी, आणो पड़सी
मायरा री रीत निभाती पड़सी
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

म्हारी मां को जायो वीरो | Mhari maa ko jaayo veero

– 1 –

कठां से आई सूंठ कठां से आयो जीरो।
कठां से आयो ये बाई मां को जायो वीरो।
सूठोद से आई सूंठ, जयपूर से आयो जीरो
कानपूर से आयो ये, म्हारी मां को जायो वीरो।
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

आया जी वीराजी म्हारे आंगणिये | aaya ji veeraji mhare aanganiye

आया, आया, आया जी, वीराजी म्हारे आंगणिये
म्हारा बनड़ा रो मंड गयो ब्याव, वीराजी आया आंगणिये
सारा घर के चढ़ गयो चसव, वीराजी आया आंगणिये।
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

लेके कुंकु चंदन हाथ | Leke kumkum chandan haath

लेके कुंकु चंदन हाथ, बहना ऊबी जोवे बाट
आगरा नगरी से आया है मेरा भैय्या।
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

जुगल जोड़ लागे सुहावनी | Jugal jod laage suhawani

लाल-लाल पाग म्हारा वीरा ने सोहे
पंचा में सोहे म्हारो वीर, वीर म्हारो लागे सुहावणो

– 1 –

वीरा है चंद्रमा ओर भाभी है चांदनी,
चंदा और चांदनी की जोड़
जुगल जोड़ लागे सुहावनी। लाल-लाल …
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

बागा में बाजे जंगी ढोल | Baaga me baaje jangi dhol

– 1 –

बागा में बाजे जंगी ढोल, शहरा में बाजे शहनाई जी
आया म्हारा बाबाजी राज, चूनर लाया रेशमी जी
नाचूं तो हाथ पचास, तोलूं तो तोला तीस की जी
मेलूं तो छाब भराय, ओढूतो हीरा खिर पड़याजी
ओढूं म्हारे बनड़ारे ब्याह जाणेती देखे जीमता जी। बागां में …
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे