देखे म्हारा देवर जेठ | Dekhe mhara devar jeth

तर्ज:

ओढूं म्हारी बनडी रे ब्याह जानेती देखे निखरता जी
देखे म्हारा देवर जेठ राजींद देखे मुलकताजी
बांगां में बजा जंगी ढोल सेरिया में बाजे शहनाई जी

आया म्हारी मांग का जाया बीर चुन्दड़ लाया रेशमी जी
नापू तो हाथ पचास तोलु तो तोला तीस की जी
मेलु तो तरसे म्हारो जीव ओढू तो हीरा खिरपड़े जी
देखे म्हारा देवर जेठ राजींद देखे मुलकताजी

(आगे बाबा मामा आदि का नाम लेवें)

इस पेज को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *