दिल लूटने वाली ओ बन्नी | Dil lutne wali o banni

तर्ज: झूठ बोले कौवा काटे...

दिल लूटने वाली ओ बन्नी, अब मैंने तुझे पहचाना है
नजरों को उठाकर देख जरा, तेरे सामने ये दीवाना है
नजरों को उठाकर क्या देखूं, ससुराल सभी को जाना है,
दिल लूटने …

– 1 –

मैं ऐसी चिड़िया बन जाऊँगी, किसी पेड़ पे छुप जाऊँगी,
मैं ऐसा शिकारी बन जाऊँगा, तुझे तीर मार ले जाऊँगा।
दिल लूटने …

– 2 –

मैं ऐसी मछली बन जाऊँगी, किसी ताल में जा छुप जाऊँगी,
मैं ऐसा मछुआरा बन जाऊँगा, तुझे जाल बिछा ले जाऊँगा।
दिल लूटने …

– 3 –

मैं ऐसी दुल्हन बन जाऊँगी, किसी कमरे में जाके छुप जाऊँगी,
मैं ऐसा दुल्हा बन जाऊँगा, तुझे फेरे करा ले जाऊँगा।
दिल लूटने …

इस पेज को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *