गेंहुँ और चना को उबटनों | Gehu aur chana ko ubtano

तर्ज:

गेंहुँ और चना को उबटनों, राय चमेली को तेल
गोरो लाड़ो बैठ्यों उबटने।
आओ म्हारी माता बाई निरखलो, आओ म्हारी काकी सा निरखलो
थां निरख्या सुख होय गोरो लाड़ो बैठयो उबटने

(इसी तरह परिवार के संबंधियों का नाम लेवें)

इस पेज को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *