जरा धीरे से रोना मेरे लाल रे | Jara dheere se rona mere laal re

तर्ज: जरा सामने तो आओ छलिये ...

जरा धीरे से रोना मेरे लाल रे
तेरे रोने की बड़ी आवाज है
कहीं सुन ले ना छोटी ननदिया
के मांगे गले का हार है।

– 1 –

सासूजी आवे, चरवा चढ़ावे
ऎसा कभी नही हो सकता -2
जब मम्मी खड़ी मेरे सामने
तो सासू का फिर क्या काम है
कहीं सुन ले ना छोटी ननदिया
के मांगे गले का हार है। जरा धीरे…

– 2 –

जिठानी आवे, लड्डू बंधावे
ऎसा कभी नही हो सकता -2
जब भाभी खड़ी मेरे सामने
तो जिठानी का फिर क्या काम है
कहीं सुन ले ना छोटी ननदिया
के मांगे गले का हार है। जरा धीरे…

– 3 –

देरानी आवे, पलंग लगावे
ऎसा कभी नही हो सकता -2
जब बहना खड़ी मेरे सामने
तो देरानी का फिर क्या काम है
कहीं सुन ले ना छोटी ननदिया
के मांगे गले का हार है। जरा धीरे…

इस पेज को शेयर करे

One thought on “जरा धीरे से रोना मेरे लाल रे | Jara dheere se rona mere laal re

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *