रंग मत डारो रे सांवरिया | Rang mat daaro re sawariya

तर्ज:

रंग मत डारो रे सांवरिया, म्हारो गुजर मारे रे- 2
रंग मत डारो रे सांवरिया, म्हारो गुजर मारे रे- 2

मैं गुजरी नादान, मेरो गुजर मतवारो रे, रंग मत डारो रे…
रंग मत डारो रे सांवरिया, म्हारो गुजर मारे रे, रंग मत डारो रे – 2

– 1 –

होरी तो खेलन, कान्हा बरसाने में आजो रे – 2
राधा और रुक्मण ने संग लेतो आजो रे, रंग मत डारो रे…
रंग मत डारो रे सांवरिया, म्हारो गुजर मारे रे, रंग मत डारो रे – 2

– 2 –

घर मत आजो कान्हा, सांस बुरी है – 2
नंदोई नादान म्हणे बोल्या मारे रे, रंग मत डारो रे…
रंग मत डारो रे सांवरिया, म्हारो गुजर मारे रे, रंग मत डारो रे – 2

– 3 –

सास बुरी छे म्हारी ननद हठीली – 2
परण्यो बेईमान म्हणे झिड़की मारे रे, रंग मत डारो रे…
रंग मत डारो रे सांवरिया, म्हारो गुजर मारे रे, रंग मत डारो रे – 2

– 4 –

चंद्र सखी भज बाल कृष्णा छवि – 2
मोहन के चरणों में मेरो मनरो लाग्यो रे, रंग मत डारो रे…
रंग मत डारो रे सांवरिया, म्हारो गुजर मारे रे, रंग मत डारो रे – 2

मैं गुजरी नादान, मेरो गुजर मतवारो रे, रंग मत डारो रे…
रंग मत डारो रे सांवरिया, म्हारो गुजर मारे रे, रंग मत डारो रे – 2

इस पेज को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *