रुपयो तो लईने ब्याई जी बाजरां में चाल्या | Rupyo to laine byaiji bajara me chaalya

तर्ज:

रुपयो तो लईने ब्याई जी बाजरां में चाल्या
तो वठां से लाया रुई की लुगाई।
रुई लुगाई ने आंगणा में मेली
तो आई हवा उड़ गई रे लुगाई।
 रुपयो तो लईने ब्याई जी बाजरां में चाल्या
तो वठां से लाया लकड़ी की लुगाई।
लकड़ी की लुगाई ने चूला में मेली
तो आग लगी जल गई रे लुगाई।
रुपयो तो लईने ब्याई जी बाजरां में चाल्या
तो वठां से लाया सोना री लुगाई।
सोना री लुगाई ने तिजोरी में मेली
तो आया चोर ले गया रे लुगाई।
रुपयो तो लईने ब्याई जी बाजरां में चाल्या
तो वठां से लाया मिट्टी की लुगाई।
मिट्टी की लुगाई ने आंगन में मेली
तो आई बरसात गल गई रे लुगाई।

इस पेज को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *