हो सावन में लग गयी आग | Ho sawan me lag gayi aag

तर्ज: हो सावन में लग गयी आग

हो सावन में लग गयी आग, दिल मेरा हाय – २
ओ सुन ऐ हसीना पागल दीवानी – २
आज न सोया सारी रात, दिल मेरा हाय

– १ –

हो गजरा लगा के आयी केश में, हाय केश में – २
जमती है गोरी काले भेष में, हाय भेष में
जाना है किस परदेश में, हाय देश में,
खनकी जो चूड़ी आधी रात, दिल मेरा हाय
हो सावन में लग गयी…

– २ –

हो पायल पहन के आयी पाँव में, हाय पाँव में – २
पीपल की ठंडी ठंडी छाँव में, हाय छाँव में
तुमसे कोई न गोरी गांव में, हाय गांव में
आज हुई जो बरसात की दिल मेरा हाय
हो सावन में लग गयी…

ओ सुन ऐ हसीना पागल दीवानी – २
आज न सोया सारी रात, दिल मेरा हाय
हो सावन में लग गयी आग, दिल मेरा हाय – २

इस पेज को शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *