Tag Archive | jain

मेरे मन मंदिर में आन पधारो महावीर भगवान | Mere man mandir me aan padharo mahaveer bhagwaan

मेरे मन मंदिर में आन पधारो महावीर भगवान,
मेरे मन मंदिर में आन पधारो महावीर भगवान।
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

भावना की चुनरी ओढ़ के जिन मंदिर में आवाजो रे | Bhavna ki chunari odh ke jin mandir me aavjo re

भावना की चुनरी ओढ़ के जिन मंदिर में आवाजो रे,
जिन मंदिर में आवाजो रे।
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

श्री सिद्ध चक्र का पाठ, करो दिन आठ | Shri siddha chakra ka paath karo din aath

श्री सिद्ध चक्र का पाठ, करो दिन आठ।
ठाठ से प्रानी, फल पायो मैना रानी।
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

मीठे रस से भरी जिनवाणी लागे | Meethe ras se bhari jinwani laage

मीठे रस से भरी जिनवाणी लागे, जिनवाणी लागे।
म्हने आत्मा की बात घणी प्यारी लागे।
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

रोम रोम से निकले प्रभुवर नाम तुम्हारा | Rom rom se nikle prabhuvar naam tumhara

रोम रोम से निकले प्रभुवर नाम तुम्हारा, हाँ! नाम तुम्हारा – २
ऐसी भक्ति करूँ प्रभुजी, पाऊ न जनम दोबारा।
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

कर लो जिनवर का गुणगान | Kar lo jinwar ka gun-gaan

कर लो जिनवर का गुणगान, आयी शुभ ये घड़ी – २
आयी शुभ घडी, देखो मंगल घडी – २
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

पारस प्यारा लागो, चँवलेश्वर प्यारा लागो | Paras pyara lago, chanwaleshwar pyara lago

पारस प्यारा लागो, चँवलेश्वर प्यारा लागो,
थांकी बांकडली झाड़या में – २
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

पारस प्रभु का दर्शन होगा | Paras prabhu ka darshan hoga

पारस प्रभु का दर्शन होगा, चरणों में उनके तन मन होगा – २
ऐसा सुन्दर उज्वल अपना जीवन होगा।
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

मनहर तेरी मूरतिया, मस्त हुआ मन मेरा | Manhar teri muratiya, mast hua man mera

मनहर तेरी मूरतिया,
मस्त हुआ मन मेरा, मस्त हुआ मन मेरा
तेरा दर्श पाया पाया, तेरा दर्श पाया।
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

धन्य धन्य आज घडी कैसी सुखकार है | Dhanya dhanya aaj ghadi kaisi sukhkaar hai

धन्य धन्य आज घडी कैसी सुखकार है – २
सिद्धो का दरबार है ये सिद्धो का दरबार है ।
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे