Tag Archive | traditional

नखरालो यो बन्नो | Nakhralo yo banno

नखरालो यो बन्नो, बन्नी पर जादू कर ग्यो २

– 1 –

बन्ना – बन्नी की सुंदर जोड़ी, जैसी चांद चकोर
दादा – दादी निरख के हरषै , नाचे मन को मोर
प्यारो – प्यारो यो बन्नो, बन्नी पर जादू कर ग्यो। नखरालो …
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

बनड़ी छोड़ चली घर-बार | Banri chhod chali ghar bar

आये बाराती, लेकर बनड़ा, ले गये बनी को साथ
बनड़ी छोड़ चली घर-बार, बनड़ी छोड़ चली घर-बार
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

सुन री सखी | Sun ri sakhi

सुन री सखी द्वारे शहनाई बाजे
बनी जायेगी पी की नगरिया
रे, बनी जायेगी पी की नगरिया
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

आई-आई रे बसंत | Aayi aayi re basant

आई – आई रे बसंत ऋतु भंवरा गूंजे,
कोई अम्बुआ की डाली पे कोयल बोले
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

रघुपति राघव राजा राम | Raghupati raghav raja ram

रघुपति राघव राजा राम ,ऐसा पति मिले भगवान

– 1 –

रोज सुबह को चाय बनाय ,चाय बना कर बनी को उठाय
हंसकर बोले पियो पियो मेरी जान ,ऐसा पति मिले भगवान । रघुपति…
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

बन्ना से बन्नी फेंरों में झगड़ी | Banna se banni phero me jhagadi

– 1 –

बन्ना से बन्नी फेंरों में झगड़ी
तू क्यों नही लाया रे सोने की तगड़ी
बन्नी तू धीरे धीरे बोल, बन्नी जरा हौले हौले बोल
दादाजी बैठे हैं, दादीजी बैठी हैं
गोने में ला दूंगा सोने की तगड़ी।
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

अपने बन्ना की मैं तो बनी रे दुल्हनियां | Apne banna ki main to bani re dulhaniya

अपने बन्ना की मैं तो बनी रे दुल्हनियां
मंडप में नाच रही सारी सखियां
मैं तो बनी रे दुल्हनियां
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

ईचक दाना बिचक दाना | Ichak dana bichak dana

ईचक दाना, बिचक दाना दाने ऊपर दाना, ईचक दाना
छत के ऊपर बन्नी बैठी, बन्ना है दीवाना ईचक दाना।
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

गोरे-गोरे गाल | Gore-gore gaal

गोरे – गोरे गाल, गाल पर मांरु टमाटर लाल
बन्ना(बन्नी) तेरा क्या कहना
सिर पर बिंदिया लाल, हाथ में रेशम का रुमाल
बन्ना(बन्नी) तेरा क्या कहना
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे

ऊपर बन्नी का मकान | Upar banni ka makaan

ऊपर बन्नी का मकान, नीचे बन्ने की दूकान
बोलो बोलो जी बोलो, किराया कितना 2
पढ़ना जारी रखें

इस पेज को शेयर करे